Logo Newzreporters

UP: डीएम-एसपी के सामने आत्मदाह करने लगा फरियादी, बोला भूमाफिया लगातार कर रहे परेशान

Tahsil Divas: यूपी से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां पर एक फरियादी जनसुनवाई दरबार में पहुंचा और अचानक से देखते देखते उसने कुछ ऐसा करना शुरू कर दिए जिसके बाद अधिकारी दंग रह गए।
 
Complainant attempted suicide
Image credit: social media

Muzaffarnagar: मुजफ्फरनगर से एक मामला सामने आया है। जहां पर जनसुनवाई दरबार में अधिकारी जनता की समस्याओं को सुनने के लिए पहुंचे, लेकिन एक फरियादी भू माफियाओं से इस कदर परेशान हुआ कि उसने अधिकारियों के सामने आत्मदाह करने की कोशिश की।

अधिकारियों के सामने दल डालकर आत्मदाह करने की फरियादी ने की कोशिश

Complainant attempted suicide: मुजफ्फरनगर से एक मामला देखने को मिला है। जहां पर जनसुनवाई दरबार में अधिकारी फरियादी की समस्या सुनते थे तभी अचानक से एक फरियादी ने कुछ ऐसा किया की मौके पर मौजूद अधिकारी भी हैरत में पड़ गए। और फरियादी की फरियाद को गंभीरता से लेने लगे। दरअसल पूरा मामला खतौली तहसील का है जहां पर जनसुनवाई दरबार का आयोजन किया गया था। इस आयोजन जिला अधिकारी, एसपी से लेकर अन्य अधिकारी भी जनता की समस्याओं को सुनने के लिए पहुंचे। इसी दरमियान जनता की समस्याओं को सुना जा रहा था तभी एक फरियादी भगवा पोशाक पहने आता है। और अधिकारियों को अपनी समस्याओं के बारे में गुस्से में बताने लगता है। लेकिन उसकी बातों पर अधिकारी गंभीरता से ध्यान नहीं देते हैं। जिस पर फरियादी काफी नाराज हो जाता है और अपने साथ में लाये डीजल की बोतल को बाहर निकलता है डीएम साहब उसको रोकने की कोशिश करते हैं लेकिन वह अपने ऊपर डीजल को डालने लगता है तभी मौके पर मौजूद कुछ लोग उसको ऐसा करने से रोक लेते हैं। फिर बाद में पूरे मामले को गंभीरता से लिया जाता है।

पीड़ित ने अधिकारियों पर लगाया आरोप

समाधान दिवस में तहसील परिसर में पेट्रोल डालकर आत्मदाह करने वाले व्यक्ति का नाम प्रवीण कुमार बताया गया। उसने बताया कि उसकी एक बीघा जमीन पर भूमाफियाओं के द्वारा कब्जा कर लिया गया है। जिसको लेकर पीड़ित 4 साल से अधिकारियों के चक्कर काट रहा है और पैमाइश की मांग कर रहा है। लेकिन आज तक उसकी जमीन की पैमाइश नहीं कराई गई। जिससे तंग आकर प्रवीण कुमार तहसील समाधान दिवस में पहुंचा जहां पर उसने अधिकारियों के सामने अपनी बात को रखा उसने बताया कि अधिकारी उसकी बात को नहीं सुन रहे हैं। लेकिन प्रवीण को समाधान दिवस में कोई संतुष्ट जवाब नहीं मिला जिसके बाद उसने आत्मदाह की कोशिश की। इस मामले में जिलाधिकारी ने कहां है कि प्रवीण कुमार का मामला एसडीएम कोर्ट में चल रहा है। उसको फास्ट ट्रैक में चलने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। जल्द ही जो भी मामला होगा वह सामने आ जाएगा।

यह भी पढ़ें: UP: यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर ने दिया अमर्यादित बयान, कहा अगर 'श्री राम-कृष्णा' होते तो मैं उनको जेल भेज देता